CTET Syllabus & Exam Pattern (paper-1&2) pdf download in Hindi

दिसम्बर 1, 2018 admin




CTET Syllabus & Exam Pattern

अगर आप करियर में अध्यापक बनने की चाह रखते हैं तो इसका पहला पड़ाव है सीटीईटी का एग्जाम | इस एग्जाम को क्लियर करके आप अध्यापक बनने की दौड़ में शामिल हो सकते हैं | इसके बाद संबंधित स्कूलों के प्रतियोगी एग्जाम पास करके आप अध्यापक बन सकते हैं. जानें इस एग्जाम के बारे में सब-कुछ:-

CTET Syllabus & Exam Pattern

 

कब होता है आयोजित
सीटीईटी एग्जाम साल में दो बार आयोजित किया जाता है. सीबीएसई सीटीईटी ऑफलाइन ही आयोजित कराती है |

कौन कर सकता है सीटीईटी क्लियर
सेंट्रल टीचर एलिजिबीलीटी टेस्ट में 60 फीसदी या उससे ज्यादा अंक लाने वाले उम्मीदवार ही क्लियर कर सकते हैं |

क्या है एग्जाम
एग्जाम क्लियर करने का अर्थ नौकरी मिलना नहीं है | इसका मतलब यह है कि आवेदक सरकारी स्कूलों में शिक्षक बनने के लिए योग्य है | रिजल्ट घोषित होने के बाद मार्क्स सर्टिफिकेट सात सालों तक योग्य माना जाता है | ये परीक्षा आवेदक चाहे जितनी बार दे सकते हैं | एक बार क्वालिफाई कर चुके आवेदक अपना स्कोर बेहतर करने के लिए दोबारा भी यह परीक्षा दे सकते हैं |

कब करना है एप्लाई
सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (CBSE) ने वर्ष में दो बार  सेंट्रल टीचर एलिजीबिलीटी टेस्ट (CTET) के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू करता है जिसमें आप आवेदन कर सकते हैं इसकी आवेदन प्रक्रिया तथा नोटिफिकेशन के बारे में आप सबसे पहले EXAMTAKHINDI.COM पर जान सकते हैं हर जानकारी सबसे पहले |

CTET Syllabus & Exam Pattern

कहां मिल सकती है नौकरी
सीटीईटी द्वारा आप केंद्रीय विद्यालय, नवोदय विद्यालय, सर्वोदय स्कूल केंद्रीय तिब्बत स्कूल और सभी सरकारी स्कूलों में पढ़ाने के योग्य हो जाते हैं, यही नहीं अच्छे प्राइवेट स्कूलों में भी सीटीईटी की डिमांड है |

कौन दे सकता है ये टेस्ट
इस परीक्षा में वही सम्मिलित हो सकते हैं, जिसने बीएड(B.Ed) किया हो या उनके पास डिप्लोमा इन एलीमेंट्री एजुकेशन हो |

कैसा होता है एग्जाम
सीटीईटी एग्जाम में पहले पेपर में 5 सेक्शन होते हैं. हर सेक्शन में 30 प्रश्न होते हैं. इन प्रश्नों में चाइल्ड डेलवपमेंट, लैग्वेज I और लैंग्वेज II, मैथ्स और पर्यायवरण विषय से जुड़ें सवाल शामिल होते हैं |

सी.बी.एस.ई. सी.टी.ई.टी. प्राथमिक शिक्षक परीक्षा 2018 का पाठ्यक्रम

जो अभ्यर्थी प्राथमिक शिक्षक बनने के लिए सी.बी.एस.ई. सी.टी.ई.टी. की परीक्षा में शामिल हो रहे हैं उनकी अधिक जानकारी के लिए विषयवार ली जाने वाली परीक्षा का पूर्ण विवरण नीचे दिया जा रहा है-



CTET Syllabus & Exam Pattern

पेपर 1 (कक्षा 1 से कक्षा 5 तक) के तहत विषयवार पूछे जाने वाले प्रश्न(परीक्षा की अवधि=2.5 घंटे)

विषय प्रश्नों की संख्या अंक
बाल विकास और अध्यापन 30 प्रश्न 30
भाषा 1 (अनिवार्य) 30 30 प्रश्न 30
भाषा 2 (अनिवार्य) 30 30 प्रश्न 30
गणित 30 30 प्रश्न 30
पर्यावरण अध्ययन 30 30 प्रश्न 30
कुल 150 प्रश्न 150

CTET Syllabus & Exam Pattern

1.बाल विकास और अध्यापन (30 प्रश्न)

(क)बाल विकास प्राथमिक विद्यालय के शिक्षक के लिए

  • विकास की अवधारणा तथा अधिगम के साथ उसका सम्बन्ध।
  • बालक विकास के सिद्धांत।
  • आनुवांशिकता और पर्यावरण का बालक पर प्रभाव।
  • सामाजीकरण की प्रक्रिया- विश्व समाज और बालक (शिक्षक, अभिभावक एवं समाज के अन्य सदस्यगण)।
  • पियाजे, कोहल्बर्ग और वायगोइस्की के सिद्धांत।
  • बाल-केन्द्रित और परगामी शिक्षा की अवधारना।
  • बौद्धिकता निर्माण संबंधी विवेचित संदर्श।
  • भाषा और चिंतन।
  • समाज निर्माण के रूप में लिंगः लैंगिक भूमिकाएं, पूर्वाग्रह और शैक्षणिक व्यवहार संबंधी प्रश्न।
  • शिक्षार्थियों के बीच व्यक्तिगत विभेद, भाषा, जाति, लिंग, समुदाय और धर्म विषय पर विभेदों का मनन।
  • अधिगम के लिए मूल्यांकन और अधिगम का मूल्यांकन के बीच अंतरः विद्यालय आधारित मूल्यांकन
  • शिक्षार्थियों की तैयारीः कक्षा में शिक्षण और विवेचित चिंतन तथा शिक्षार्थी की उपलब्धि के लिए उपयुक्त प्रश्न पत्र की तैयारी।

(ख) समावेशी शिक्षा की अवधारणा तथा विशेष आवशकयता वाले बालकों को समझना (5 प्रश्न)

  • गैर-लाभप्रद और अवसर से वंचित शिक्षार्थियों सहित विभिन्न प्रष्ठभूमि से आए शिक्षार्थी की आवशकताओं को समझना।
  • अधिगम सम्बन्धी समस्याएं, कठिनाई वाले बालकों की आवश्यकताओं को समझना।
  • मेधावी, सृजनशील, विशिष्ट प्रतिभावान शिक्षार्थी की आवशयकताओं को समझना।

(ग) सिखाना एवं अध्यापन (10 प्रश्न)

  • बालक किस प्रकार सीखते और सोचते है? बालक विद्यालय प्रदर्शन में सफलता प्राप्त करने में कैसे और क्यों असफल होते है?
  • अधिगम और अध्यापन की बुनियादी प्रक्रियाएं, बालकों की अधिगम कार्य नीतियां, सामाजिक क्रिया कलाप के रूप में अधिगम, अधिगम में सामाजिक सन्दर्भ।
  • एक समस्या समाधानकर्ता और एक वैज्ञानिक अन्वेषक के रूप में बालक।
  • बोध एवं संवेदनाएं।
  • प्रेरणा एवं अधिगम।
  • बालकों में अधिगम की वैकल्पिक संकल्पना, अधिगम प्रक्रिया में महत्वपूर्ण चरणों के रूप में बालक की त्रुटियों को समझना।

2. भाषा 1 (30 प्रश्न)

(क) भाषा बोधगम्यता (15 प्रश्न)                 

  • अनदेखे अनुच्छेदों को पढ़ना- दो अनुच्छेदों, एक गद्य अथवा नाटक और एक कविता, जिसमें बोधगम्यता, निष्कर्ष, व्याकरण और मौखिक योग्यता से सम्बंधित प्रशन पूछे जाते हैं।
  • शिक्षण पर आधारित भाषा विकास।
  • सीखना और ज्ञान अर्जित करना।
  • विवरणात्मक भाषा शिक्षण।
  • सुनने और बोलने की भूमिका : भाषा का कार्य तथा बालक इसे किस प्रकार उपयोग में लेते है?

(ग)  भाषा विकास का अध्यापन (15 प्रश्न)

  • अधिगम और अर्जन।
  • भाषा अध्यापन के सिद्धांत.
  • सुनने और बोलने की भूमिकाः भाषा का कार्य तथा बालक इसे किस प्रकार एक उपकरण के रूप में प्रयोग करते हैं?
  • मौखिक और लिखित रूप में विचारों के संप्रेषण के लिए किसी भाषा के अधिगम में व्याकरण की भूमिका पर निर्णायक संदर्श।
  • एक भिन्न कक्षा में भाषा पढ़ाने की चुनौतियां- भाषा की कठिनाइयां, त्रुटियां और विकार।
  • भाषा कौशल।
  • भाषा बोधगम्यता और प्रवीणता का मूल्यांकन करनाः बोलन, सुनना, पढ़ना और लिखना।
  • अध्यापन- अधिगम सामग्रियां- पाठ्यपु स्तक, मल्टी मीडिया सामग्री, कक्षा का बहुभाषायी संसाधन।
  • उपचारात्मक अध्यापन

CTET Syllabus & Exam Pattern,3. भाषा 2 (30 प्रश्न)

(क)  बोध्यगम्यता (15 प्रश्न)

  • दो अनोखे गद्य अनुच्छेद (तर्क मूलक अथवा साहित्यिक अथवा वर्णनात्मक अथवा वैज्ञानिक) जिनमें बोध्यगम्यता, निष्कर्ष, व्याकरण और मौखिक योग्यता से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं।

(ख)  भाषा विकास का अध्यापन (15 प्रश्न)




  • अधिगम और अर्जन।
  • भाषा अध्यापन के सिद्धांत.
  • सुनने और बोलने की भूमिकाः भाषा का कार्य तथा बालक इसे किस प्रकार एक उपकरण के रूप में प्रयोग करते हैं?
  • मौखिक और लिखित रूप में विचारों के संप्रेषण के लिए किसी भाषा के अधिगम में व्याकरण की भूमिका पर निर्णायक संदर्श।
  • एक भिन्न कक्षा में भाषा पढ़ाने की चुनौतियां- भाषा की कठिनाइयां, त्रुटियां और विकार।
  • भाषा कौशल।
  • भाषा बोधगम्यता और प्रवीणता का मूल्यांकन करनाः बोलन, सुनना, पढ़ना और लिखना।
  • अध्यापन- अधिगम सामग्रियां- पाठ्यपु स्तक, मल्टी मीडिया सामग्री, कक्षा का बहुभाषायी संसाधन।
  • उपचारात्मक अध्यापन

4. गणित (30 प्रश्न)

(क) विषय-वस्तु (15 प्रश्न)

ज्यामिति, आकार और स्थानिक समझ, हमारे चारों ओर विद्यमान ठोस पदार्थ, संख्याएं, जोड़ना और घटाना, गुणा करना, विभाजन, मापन, भार, समय, परिमाण, आंकड़ा प्रबंधन, पैटर्न, राशि।

(ख) अध्यापन संबंधी मुद्दे (15 प्रश्न)

  • गणितीय/तार्किक चिंतन की प्रकृतिः बालक के चिंतन एवं तर्कशक्ति पैटर्नों तथा अर्थ निकालने और अधिगम की कार्यनीतियों को समझना।
  • पाठ्यचर्या में गणित का स्थान।
  • गणित की भाषा।
  • सामुदायिक गणित।
  • औपचारिक एवं अनौपचारिक पद्धतियोंके माध्यम से मूल्यांकन।
  • शिक्षण की समस्याएं।
  • त्रुटि विश्लेषण तथा अधिगम एवं अध्यापन के प्रांसगिक पहलू।
  • नैदानिक एवं उपचारात्मक शिक्षण।

5. पर्यावरणीय अध्ययन (30 प्रश्न)

(क) विषय वस्तु (15 प्रश्न)

परिवार और मित्र, संबंध, कार्य और खेल, पशु, पौधे, भोजन, आश्रय, पानी, भ्रमण, वे चीजें जो हम बनाते और करते हैं।

(ग) अध्यापन संबंधी मुद्दे (15 प्रश्न)

  • ई.वी.एस. की अवधारणा और व्याप्ति
  • ई.वी.एस. का महत्व, एकीकृत ई.वी.एस.
  • पर्यावरणीय अध्ययन एवं पर्यावरणीय शिक्षा
  • अधिगम सिद्धांत
  • विज्ञा और सामाजिक विज्ञान की व्याप्ति और संबंध
  • अवधारणा प्रस्तुत करने के दृष्टिकोण
  • क्रियाकलाप
  • प्रयोग/व्यवहारिक कार्य
  • चर्चा
  • सी.सी.ई.
  • शिक्षण सामग्री/उपकरण
  • समस्याएं

CTET Syllabus & Exam Pattern

 Paper 02 :- Class VI to VIII (Elementary Stage)[(परीक्षा की अवधि=2.5 घंटे)]

बाल विकास और अध्यापन 30 प्रश्न 30 अंक
भाषा 1 (अनिवार्य) 30 प्रश्न 30 अंक
भाषा 2 (अनिवार्य) 30 प्रश्न 30 अंक
गणित और विज्ञान 60 प्रश्न 60 अंक
सामान्य अध्ययन तथा सामान्य विज्ञान 60 प्रश्न 60 अंक
कुल 210 प्रश्न 210 अंक

हमने पेपर 1 का पूरा पाठ्यक्रम आपको यहां पर बताया,पेपर 2 के बारे में भी हमने बताया इन दोनों ही पाठ्यक्रमों की पूरी जानकारी PDF फाइल के माध्यम से जानने के लिए हमने आपको डाउनलोड करने का ऑप्शन दिया है आप यहां से डाउनलोड कर सकते हैं |

Download in Hindi 




Download in English

2 Comments on “CTET Syllabus & Exam Pattern (paper-1&2) pdf download in Hindi

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *